Desi Murgi Palan कैसे करे, मुर्गी पालन योजना फायदे Farm Loan

| | 3 Minutes Read

हम इस पोस्ट में जानेंगे Desi Murgi Palan और देसी मुर्गी पालन योजना. आज के समय में भारत पुरे विश्व में चाइना और अमेरिका के साथ टक्कर में अंडे और मांस के उत्पादन में तेज़ी से बड रहा है.

आज भारत पुरे विश्व में अंडा उत्पादन में तीसरे स्थान पर है और मांस उत्पादन में पाचवे स्थान पर.

भारत में Poultry Farming या देसी मुर्गी पालन एक मुनाफे का व्यापार बन गया है.

Desi Murgi Palan

देसी मुर्गी पालन: देसी मुर्गी को पलना बहुत ही फायदेमंद व्यापार है इसमें आपको दो तरह से मुनाफा होता है एक तो आप मुर्गी के अण्डों को बेच कर पैसे कामा सकते है और दूसरा आप मुर्गी का मांस बेच कर पैसे कामा सकते है. बस आपको एक जमीन पर Poultry Farm त्यार करना पड़ता है और उसके बाद आप अपनी मुर्गियों को पाल कर उसने अच्छा खासा मुनाफा कामा सकते है.

Desi Murgi Kitne Prakar Ke Hote Hain

देसी मुर्गी कि कई प्रजातियाँ होती है जिनमे से हम कुछ मुख्य Desi Murgi कि प्रजातियों के बारे में जानेगे. 

  • ग्रामप्रिया 
  • श्रीनिधि 
  • वनराजा 

यह तीन प्रजाति कि मुर्गियाँ सबसे ज्यादा प्रचलित है जिनका उपयोग Desi Murgi Palan में किया जाता है. यह तीनो प्रजातियों कि मुर्गियों का विकाश बाकि अन्य प्रजातियों कि मुर्गियों से ज्यादा जल्दी होता है इसलिए इन मुर्गियों को पलना बहोत ही लाभ दायक है.

Desi Murgi Ke Ande

देसी मुर्गी अन्य मुर्गियों कि तुलना में ज्यादा अंडे देती है और इनके अंडे ज्यादा अच्छे होते है इसी कारण से आज दुकानों और मॉल में भी देसी मुर्गी के अंडो कि ज्यादा मांग रहती है. तो अगर आप देसी मुर्गी पालन करते है तो आपको जादा मुनाफा होगा . 

देसी मुर्गी पालन कैसे करें

देसी मुर्गी पालन करेने के लिए आपके पास जमीन होना चाहिए जिस पर आप Desi Murgi Palan करने के लिए Farm बना सको. आप चाहे तो अपने घर पर भी देसी मुर्गी पालन कर सकते है लेकिन अगर आपके पास एक अलग से जमीन है तो आप उस पर ज्यादा तादाद में मुर्गियों को पाल सकते है.

मुर्गियों को शर्दी गर्मी और बारिश से बचाने के लिए भी आपको उचित इतजाम करने होंगे ताकि आपकी मुर्गियाँ मौसम के कारण बीमार न पड़े क्योंकि मुर्गियों पर मौसम का बहुत प्रभाव पड़ता है.

मुर्गियों के लिए पोषित आहार देना बहुत ही जरुरी है क्योंकि पोषित आहार पर ही आपकी मुर्गियों का विकाश निश्चित है.

अगर आप अपनी मुर्गियों को अच्छा और पोषित आहार देंगे तो आपकी मुर्गियाँ ज्यादा अंडे देंगी और उनका वजन भी बढेगा जिससे आप उनके मांस को भी बेच कर ज्यादा मुनाफा कामा सकते है.

Desi Murgi Palan Business

देसी मुर्गी पालन business एक ऐसा business है जिसे कोई भी कर सकता है एवं देसी मुर्गी पालन business को बड़ाबा देने के लिए सरकार भी लोगो को कई प्रकार कि सुविधा उपलब्ध कराती है जिससे लोग आसानी से देसी मुर्गी पालन कर सके. 

Desi Murgi Palan Training

देसी मुर्गियों को पलना आसान काम नहीं है खाश कर तब जब आपको मुर्गी पालन कि थोड़ी सी भी जानकारी न हो तो इस इस्थिती में आपको देसी मुर्गी पालन का प्रशिक्षण लेना बहुत ही जरुरी है. 

यह जरुरी नहीं है कि आप देसी मुर्गी पालन का ही प्रशिक्षण ले अगर आपको मुर्गी पालन करना आता है तो आप देसी मुर्गियों को भी पाल सकते है.

आज के समय में कई सारे संसथान free में मुर्गी पालन का प्रशिक्षण प्रदान करते है एवं सभी राज्यों के ग्रामीण एवं शेहरी इलाकों में भी मुर्गी पालन का प्रशिक्षण दिया जता है. 

Desi Murgi Palan Ka Tarika

देसी मुर्गी हो या अन्य किसी नश्ल कि मुर्गी सभी मुर्गियों का भविष्य उनके पोषण पर निर्भर करता है आप अपनी मुर्गियों को जितना ज्यादा अच्छा पोषण देंगे वो उतना ही अच्छा विकास करेगी.

आज के समय में आपको बाजार में मुर्गियों के लिए पोषित आहार मिल जाता है जिसे खरीद कर आप अपनी मुर्गियों को खिला सकते है . लेकिन अगर आप बाजार से आहार खरीद कर अपनी मुर्गियों को नहीं खिलाना चाहते तो आप अपने घर पर बनाया गया आहार भी उन्हें खिला सकते है.

बस आप सिर्फ एक बात का ध्यान रखे कि आप जो आहार मुर्गियों को दे रहे है वो दूषित न हो और उसमे किसी भी प्रकार के हानिकारक चीज़ न हो बरना आपकी मुर्गियाँ बीमार पड़ सकती है या मर भी सकती है.

Ghar Par Desi Murgi Palan

अगर आपके घर में इतनी जगह है कि आप मुर्गियों को आराम से पाल सकते है तो आप अपने घर पर देसी मुर्गी पालन कर सकते है मुर्गियों को पलने के लिए आपको बस एक ऐसी जगह कि जरुरत पड़ती है जहाँ मुर्गियों को कोई परेशानी न हो और वो आराम से वह रह सके.

बस इसके आलावा आपको मुर्गियों के पोषण पर ध्यान देना है क्योंकि अपनी मुर्गियों के अंडे और मांस कि तादात उनके खान पान पर निभर करती है.

तो आप अपने घर पर देसी मुर्गी पालन कर सकते है कई लोग तो अपने घरों कि छतों पर भी मुर्गी पालन करते है तो अगर आपके घर कि छत पर इतनी जगह है कि मुर्गियों को पला जा सके तो आप मुर्गी पालन कर सकते है.

देसी मुर्गी पालन योजना

देसी मुर्गी पालन योजना के तहत मुर्गी पालन के लिए आप भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से भी Loan ले सकते हैं. सरकार मुर्गी पालन को बड़ाबा देने के लिए लोगो को कई प्रकार कि सुविधा प्रदान करती है. जिनमे देसी मुर्गी पालन loan भी शामिल है. यहाँ सबसे अच्छी बात यह है कि सरकार आपको 0% कि व्याज दर पर loan देती है और ऊपर से loan पर subsidy भी देती है.

जिसमे General category के लोगो को 25% तक कि subsidy और ST/SC category के लोगो को 35% तक कि subsidy प्रदान करती है. अगर आप देसी मुर्गी पालन करना चाहते है तो आप इसके लिए किसी भी बैंक से मुर्गी पालन के लिए loan ले सकते है.

मुर्गी पालन के फायदे

1. देसी मुर्गो पालन का सबसे बड़ा फायदा यह है कि मुर्गियों को वातावरण से ज्यादा फरक नहीं पड़ता और इसी कारण से देसी मुर्गी पालन ज्यादा प्रचलित है 

2. देसी मुर्गी कि कुछ प्रजातीय अन्य मुर्गी कि प्रजातियों से ज्यादा अंडे देती है जिससे आप ज्यादा अंडे बेच कर ज्यादा मुनाफा कामा सकते है 

3. देसी मुर्गी कि चुनिन्दा प्रजातियों कि मुर्गियों का वजन अन्य मुर्गियों कि तुलना में ज्यादा होता है और इस कारण से उनका मांस ज्यादा पैसों में बिकता है 

4. देसी प्रजाति कि मुर्गी अन्य प्रजाति कि मुर्गियों से ज्यादा जल्दी विकाश करती है 

5. देसी प्रजाति कि मुर्गी के अण्डों और मांस कि मांग बाजार में जायदा होती है 

देसी मुर्गी पालन एक फायदेमंद व्यापार है तो आप भी अपना खुद का Desi Murgi Palan का  Business start करके अच्छा पैसा कमाइए.

ग्रामप्रिया मुर्गी की जानकारी

ग्रामप्रिया : ग्रामप्रिया प्रजाति कि मुर्गी 18 महीनो में 240 से लेकर 250 अंडे दे सकती है और इस मुर्गी का वजन 1.5 Kg से लेकर 2 Kg तक रहता है. यह मुर्गी अण्डों और मांस दोनों के लिए बहुत ही अच्छी होती है.

श्रीनिधि मुर्गी पालन

श्रीनिधि : श्रीनिधि प्रजाति कि मुर्गी अन्य प्रजाति कि मुर्गी कि अपेक्षा में 230 से लेकर 250 अंडे तक देती है. श्रीनिधि मुर्गी का वजन ग्रामप्रिया मुर्गी से ज्यादा होता है. श्रीनिधि मुर्गी का वजन 2.5kg से लेकर 5kg तक होता है इसी कारण से यह मुर्गी अण्डों से ज्यादा मांस में मुनाफा देती है.

वनराजा मुर्गी की जानकारी

वनराजा : वनराजा मुर्गी अन्य मुर्गी कि तुलना में 3 महीने के अन्दर 120-135 अंडे दे देती है और इनका वजन श्रीनिधि मुर्गी से कम होता है लेकिन इसका वजन ग्रामप्रिया कि मुर्गी के लगभग होता है.

देसी मुर्गी को क्या खिलाना चाहिए

देसी मुर्गी को अनाज (गेहूं, बाजरा और ज्वार का आटा) आदि खिलाना चाहिए

आपको हमारी यह पोस्ट Desi Murgi Palan और देसी मुर्गी पालन योजना कैसे लगी हमे जरुर बताये.

अगर आपके मन में कोई सवाल है जो आप हमसे पूछना चाहते है तो comment करके पूछ सकते है . 

 

Author:

मेरा नाम आदित्य कुमार है, मैं इस वेबसाइट पर Startup, Business और Finance के बारे में जानकारी Share करता हु. मैंने पढाई में BBA और MBA (Entrepreneurship and International Business Development) में किया है. आप मुझ से बिज़नेस और स्टार्टअप से जुड़े अपने प्रिश्न पूछ सकते है.

Tagged Posts

Questions Answered: (8)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *