लॉटरी का बिज़नेस कैसे करे, Lottery Business Plan in Hindi, लाइसेंस

| | 2 Minutes Read

भारत में कई राज्यों में लॉटरी का बिज़नेस वैद्य है तो कही अवैध है. आजकल ऑनलाइन लॉटरी का चलन भी बढ़ने लगा है. इसलिए कुछ राज्यों में ऑनलाइन और ऑफलाइन लॉटरी बिज़नेस लीगल है तो कुछ राज्यों में यह दोनों ही इलीगल है.

इसलिए आज हम इस पोस्ट में जानेगे की Lottery Ka Business Kaise Kare और Lottery Business Plan in Hindi.

लॉटरी का बिज़नेस करने के लिए लाइसेंस कहाँ से ले तथा लॉटरी के बिज़नेस में कितनी लागत लगती है साथ ही इसमें कितना प्रॉफिट होता है. इस पोस्ट में हम विस्तार से जानेंगे. तो लॉटरी के बिज़नेस के बारे में अच्छे से जानने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें.

Lottery Ka Business Kaise Kare

भारत में लॉटरी का बिजनेस करना बहुत ही आसान होता है. क्योकि इसमें आपका निवेश कम होता है. यदि आप लॉटरी का बिज़नेस शुरू करने का सोच रहे है तो पहले यह पता करे की यह आपके राज्य में अवैध तो नहीं है. अगर यह बिज़नेस आपके शहर में वैध है तो आप इसे आसानी से शुरू कर सकते है नहीं तो आपको कानूनी करवाई का सामना भी करना पड़ सकता है.

इस बिज़नेस को शुरू करने से पहले आपको इस बिज़नेस की पूरी जानकारी ले लेना चाहिए. की बिज़नेस को करने के लिए कौन-कौन से लाइसेंस चाहिए, कैसे शुरू करे.

टिकट कैसे बनाये या ख़रीदे इस तरह की तमाम जानकारी आपको प्राप्त करना होगी. इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आप कुछ कदम उठा सकते है जो निचे बताये जा रहे है.

1. किसी वकील से मिलकर जानकारी ले

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए कुछ नियम भी होते है. जिन्हे आपको वकील से मिलकर पता करना चाहिए. यदि कोई भी Public Gambling Act 1867 के नियमो का पालन नहीं करता है. तो उसे किसी तरह की कानूनी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

इसलिए इस बिज़नेस को शुरू करने से पहले उस राज्य के नियम, परमिशन और लाइसेंस के बारे में जान लेना चाहिए.

2. लॉटरी के बिज़नेस के प्रकार जाने

लॉटरी के बिज़नेस को शुरू करने से पहले आपको इसका प्रकार भी चुन लेना होता है. लॉटरी बिज़नेस दो प्रकार से किया जा सकता है ऑनलाइन और ऑफलाइन. ऑनलाइन लॉटरी बिज़नेस में आप लॉटरी के टिकट को ऑनलाइन बेच सकते है. जिसे ग्राहक द्वारा भी ऑनलाइन ही ख़रीदा जाता है और इसका लकी ड्रा भी ऑनलाइन ही घोसित किया जाता है.

जबकि ऑफलाइन लॉटरी बिज़नेस में आप लॉटरी के टिकट को ऑफलाइन तरीके से किसी दुकान से बेचते है.

जहा से ग्राहक द्वारा आप से टिकट ख़रीदा जाता है और आप वही से टिकट बेचते है. इसका लकी ड्रा भी ऑफलाइन ही घोषित होता है.

3. एक दुकान खरीद लें या किराए पर लें

ऑनलाइन हो या ऑफलाइन लॉटरी बिज़नेस, दोनों ही तरह में आपको एक जगह की जरुरत होती है जहा से आप अपना बिज़नेस को शुरू कर सकते है. इसके लिए आप कोई दुकान किराए पर ले सकते है या खरीद सकते है. क्योकि यदि आपकी कोई दुकान या ऑफिस होगा तो आप उसे अपनी ऑनलाइन प्लेटफार्म पर बता सकते है. जिससे ग्राहक भी आप पर विश्वास कर सके.

दुकान के लिए आपको गुमास्ता की जरुरत होती है. गुमास्ता के बारे में जानने और बनाने के लिए निचे दी गयी पोस्ट को पढ़ सकते है इसमें सारी जानकारी डिटेल में दी गयी है.

4. लॉटरी बिज़नेस के लिए लोकेशन

आप अपने बिज़नेस को किसी भी लोकेशन से शुरू कर सकते है. कोशिस यही करे की आपका बिज़नेस ऐसी जगह से हो जहाँ लोगो का अधिक आना जाना हो ताकि आपके पास अधिक ग्राहक आ सके और आपके टिकट अच्छी तरह से बिक सके.

5. लॉटरी बिज़नेस के लिए डाक्यूमेंट्स

  • आईडी प्रूफ : आधार कार्ड, पैन कार्ड और वोटर आईडी 
  • एड्रेस प्रूफ : राशन कार्ड, बिजली का बिल
  • बैंक डिटेल 
  • पासपोर्ट साइज फोटो 
  • मोबाइल नंबर और ईमेल 
  • TIN No. और GST Number
  • Lease Agreement और Property Document
  • NOC

6. लॉटरी बिज़नेस के लिए लाइसेंस

लॉटरी लाइसेंस एक ऐसा डॉक्यूमेंट है जिसकी मदद से आप लीगल तरीके से अपने बिज़नेस को चला सकते है और आप पर कोई किसी तरह की कानूनी करवाई भी नहीं कर सकता है. एक लॉटरी लाइसेंस आपको आपके लॉटरी के बिज़नेस को कानूनी तरीके से करने में सक्षम बनाता है.

लॉटरी के बिज़नेस को शुरू करने के लिए आवश्यक लाइसेंस को बनवाने में आपको कई महीनों भी लग जाते है. परन्तु आपका समय बचाने के लिए और जल्दी लाइसेंस बनाकर देने में गेमिंग लाइसेंसिंग कुराकाओ आपके लॉटरी के बिज़नेस के लिए जरुरी लाइसेंस देने में मदद करती है.

जिससे आप पूरी तरह कानूनी रूप से इस बिज़नेस को शुरू कर सकते है. इसके आलावा व्हाइटलोटो भी एक ऐसा प्लेटफार्म है जो आपके लॉटरी के बिज़नेस में आपकी हर प्रकार की मदद कर सकता है.

7. लॉटरी बिज़नेस के लिए लोन

वैसे तो यह बिज़नेस कम इन्वेस्टमेंट में भी शुरू हो सकता है. लेकिन फिर भी आप किसी भी बैंक से बिज़नेस लोन ले सकते है. भारत सरकार द्वारा भी बिज़नेस को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है. आप लोन के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का लाभ भी ले सकते है.

8. लॉटरी बिज़नेस में लागत व् प्रॉफिट

Lottery के Business को आप बहुत ही कम निवेश के साथ भी शुरू कर सकते है. इस बिज़नेस को आप कम से कम 40 से 50 हजार रुपये में भी शुरू कर सकते है. यदि लॉटरी के बिज़नेस की ठीक तरह से मार्केटिंग की जाए तो यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. इस बिज़नेस में आपको नुकसान होने का खतरा भी नहीं है.

इस बिज़नेस में कितना प्रॉफिट होता है इस बात का अंदाजा लगा पाना थोड़ा मुश्किल होता है.

इसमें आप अपने हिसाब से अपना प्रॉफिट मार्जिन सेट कर कमा सकते है. इसलिए यह एक फायदे वाला बिज़नेस होगा. 

9. लॉटरी बिज़नेस की मार्केटिंग

लॉटरी के बिज़नेस की मार्केटिंग के लिए आप ऑनलाइन अपनी वेबसाइट बनवा सकते है. कई तरह के ऐसे प्लेटफार्म है जहा से आप अपनी वेबसाइट बना सकते है. इसके आलावा आप इसको सोशल मीडिया (फेसबुक, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, पिंटरेस्ट, ट्विटर आदि) पर भी शेयर कर सकते है.

अपने बिज़नेस को प्रमोट करने के लिए आप टीवी एड्स या पम्पलेट्स आदि की भी मदद ले सकते है.

लॉटरी बिज़नेस लीगल है या इलीगल

भारतीय संविधान में यह तय करने का हक़ राज्य सरकार का होता है. Lottery Ka Business कुछ राज्यों (तमिलनाडु, कर्नाटक आदि) में इलीगल है तो वही कुछ राज्य (पंजाब, महाराष्ट्र, केरल, पश्चिम बंगाल, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, सिक्किम आदि) ऐसे भी है जहां इसे लीगल माना गया है.

लॉटरी का बिज़नेस ऑनलाइन होता है या ऑफलाइन

लॉटरी के बिज़नेस को आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीके से कर सकते है. पर कुछ राज्यों में ही ऑनलाइन लॉटरी बिज़नेस लीगल है बाकी कई राज्यों में ऑनलाइन लॉटरी इलीगल है.

आपको हमारी यह पोस्ट Lottery Ka Business Kaise Kare और Lottery Business Plan in Hindi अच्छी लगी.

तो इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. अगर आपके मन में कोई सवाल है तो कमेंट कर के पूछ सकते है.

Author:

मेरा नाम आदित्य कुमार है, मैं इस वेबसाइट पर Startup, Business और Finance के बारे में जानकारी Share करता हु. मैंने पढाई में BBA और MBA (Entrepreneurship and International Business Development) में किया है. आप मुझ से बिज़नेस और स्टार्टअप से जुड़े अपने प्रिश्न पूछ सकते है.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *