Gold क्या होता है – Gold का Business कैसे करे

आज हम जानेंगे Gold क्या होता है एवं Gold का Business कैसे करें साथ ही जानेंगे अलग-अलग Gold के व्यापारी एवं दुकानों के लिए कौन-कौन सी बातों का ध्यान रखना होता है और कौन से लाइसेंस किस दुकान के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होते हैं.

इसके साथ ही हम जानेंगे गोल्ड को चेक कैसे करते हैं एवं उसकी जांच इतनी जरूरी क्यों है तो चलिए शुरू करते हैं गोल्ड का बिजनेस कैसे करें आर्टिकल पढ़ने से….

Gold Kya Hota Hai - Gold Ka Business Kaise Kare
Gold Kya Hota Hai – Gold Ka Business Kaise Kare

Gold Kya Hai

Gold का Business शुरू करने से पहले हम जान लेते है Gold क्या है एवं आज के वक़्त में इसकी मांग इतनी ज्यादा क्यूँ है…

आपको यह जान कर गर्व होगा की पुरे दुनिया भर में भारत ही एक लौता एसा देश है जहाँ इतने सालों से सबसे ज्यादा सोना पाया जाता है और प्राचीन काल से उसी लिए भारत को लोग सोने की चिड़िया के नाम से जानते हैं.

Gold के इतिहास की बात करे तो Europe से लेकर मध्य पूर्व तक मिस्र के फिरौन की कब्रों तक, प्राचीन दुनिया भर में सोना दिखाई देता है.

Gold Ka Business Kaise Kare

भारत में Gold के Business को विभिन्न प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है:

  • Retail Jewellery की दुकानें
  • Online Jewellery
  • Gold Trading
  • Gold Importers
  • Jewellery बनाने की दुकाने

Retail Jewellery Shop

अगर आप Retail ज्वेलरी की Shop खोलना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कई सारे Registration एवं दस्तावेज Verify कराने होते हैं. तो चलिए अब हम जानते है आप आपके Retail Business कहाँ पर शुरू कर सकते है एवं उसके लिए क्या क्या Documents जरुरी है:

  • Retail ज्वेलरी Shop ज्यादा गरीब गाँव में नही खोल सकते अगर आप एसा करते हैं तो हो सकता है आपके दूकान की देर रात में चोरी हो जाए या फिर इतने महंगे सामान कोई खरीदने ही नही आएगा तो भी आपको काफी नुकसान देखने को मिल सकता है.
  • आप आपकी Shop ऐसे Location पर खोले जहाँ से व्यापार करना आसान हो एवं वहां के Area में ज्यादा ज्वेलरी की दुकाने पहले से उपलब्ध ना हों.
  • आपको आपका किसी भी तरह का Business सही तरीके से चलाने के लिए कुछ लाइसेंस की जरूरत पड़ती है ताकि आपके Business को लेकर कोई किसी तरह का कानूनी करवाई न कर पाए या आपके उपर गलत तरीके से पैसे कमाने के आरोप न लगा पाए.
  • आपको ज्वेलरी Business के लिए इन जरुरी लाइसेंस को बनवाना होगा:
Online Jewellery Ka Business

Online Jewellery का  Business करने के लिए आप निचे दिए तरीकों की मदद से बड़ी आसानी से आपका ज्वेलरी का Business कर सकते है:

  • सबसे पहले Market में रिसर्च कर लें किस तरह की ज्वेलरी की सबसे ज्यादा मांग है.
  • फिर यह निश्चित कर लें की आप किन तरह के Audience के लिए Online Platform की मदद से आपकी ज्वेलरी का उत्पादन करेंगे एवं बेचेंगे.
  • इसके बाद आपको आपके द्वारा बनाए Designs की Marketing एवं Selling के लिए आपको एक अच्छा Business प्लान बनाना होगा अन्यथा आपके द्वारा किए गए मेहनत में काफी नुकसान देखने को मिल जाता है.
  • इसके बाद आपको आपके Design के प्रोडक्ट्स को सच में बनाना होगा एवं उसे डिलीवरी के लिए तैयार करना होगा.
  • अगर आपके Designs की मांग बहुत ज्यादा है Market में तो आप आपके आस पास में उपलब्ध अन्य ज्वेलरी बनाने वाले मजदूरों की मदद ले कर उनसे आपका Design शेयर कर के इसका उत्पादन बढ़ा सकते हैं.
  • इसके बाद अगर आपके कुछ प्रोडक्ट्स बिकते हैं तो आप ज्यादा से ज्यादा उनकी Promotion एवं डिजिटल Marketing करा कर आपके Product को ज्यादा लम्बे समय तक बेच सकते है.
  • अगर आपका ब्रांड Customer द्वारा वाकई में पोपुलर हो जाता है तो आप आपके Business के हिसाब से आपका एक अपना ब्रांड भी बना सकते हैं.
Jewellery बनाने की दुकाने

अगर आप ज्वेलरी बनाने की दुकान खोलना चाहते हैं, तो इसके पहले आपको यह जानना होगा ज्वेलरी बनाते कैसे हैं और इसे बनाने के लिए किन-किन सामानों का प्रयोग करना होता है.

ज्वेलरी बनाने की दुकान खोलना आसान है इसके लिए आपको बस एक शॉप की जरूरत पड़ेगी जो कि मार्केट के बीच हो एवं कुछ शॉप के लाइसेंस जैसे कि:

की जरूरत पड़ेगी. अगर आपके पास शुरू में GST नहीं है तो भी आप का बिजनेस शुरू किया जा सकता है लेकिन बाद में अगर आप आपका बिजनेस बड़े तपते पर बढ़ाते हैं तो उसके लिए आपको GST लेना अनिवार्य है.

इसके बाद आपको मार्केट में जाकर ज्वेलरी बनाने वाली सामग्री आपको थोक भाव में लानी होगी और उसको बनाने वाले चार्ज (Making Cost) की जानकारी और भी पुराने दुकान में पर जाकर इकट्ठा करनी होगी.

इसके बाद आपको आपकी दुकान की कुछ मार्केटिंग एवं प्रमोशन करना कि ताकि लोग आना शुरू हो और आपको शुरुआत में पहले थोड़े कम चार्ज में लोगी काम करने होंगे इसके बाद उनका भरोसा एक बार बन गया तो वह आपके साथ लंबे समय तक अपनी चीज है बनवाने आएंगे.

आप आपके दुकान के प्रचार के लिए एक अच्छा सा Banner एवं Pamphlet बनवा कर भी ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा सकते हैं आप इस तरह की मार्केटिंग के लिए न्यूज़पेपर की भी मदद ले सकते हैं.

शुरुआत में अगर आप ज्वेलरी बनाने का बिजनेस को करना चाहते हैं तो इसे आप ₹50,000 से लेकर ₹1,00,000 के बीच में आसानी से शुरू कर सकते हैं.

अगर आप ज्यादा बड़ी दुकान नहीं खोल रहे हैं तो एक छोटी सी दुकान जिसमें 32,000 से ₹45,000 तक की लागत आएगी. इसमें आपकी दुकान का Rent, Electricity Bill, Marketing, ज्वेलरी बनाने की सामग्री आदि शामिल रहेंगी.

Gold Rate Today

Gold में चल रही करंट रेट की जानकारी के लिए आप निचे दिए बटन का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Gold Detector Machine Price

जैसा की हम जानते हैं एक अच्छे व्यापारी के पास उसके सामान की जांच करने के लिए सभी तरह के जाँच उपकरण उसके का होना अनिवार्य है.

उसी तरह अगर आप इस व्यापार को शुरू करने से पहले इस बात की अच्छी जांच और परख करके आपके सामान की लेन-देन करते हैं तो लोगों को आप पर भरोसा ज्यादा जल्दी बढ़ता है और वह लंबे समय तक कोशिश करते हैं कि आप से ही सामान खरीदें.

अगर आप Gold की शुद्धता को खुद से ही चेक करके बेचना चाहते हैं तो आप मार्केट में उपलब्ध Gold Testing Machine खरीद सकते हैं.

अगर आप Gold टेस्टिंग मशीन की जानकारी अभी ऑनलाइन लेना चाहते हैं तो आप नीचे दिया है बटन पर क्लिक करके उसकी जानकारी एवं मार्केट में उसका करंट रेट क्या है की जानकारी ले सकते हैं.

यह मशीन उन लोगों के लिए ज्यादा लाभ दायक है जिन्हें कच्चे Gold का Business एवं Import/ Export देखना है.

Gold Quality Check

Gold जैसे बेहद कीमती धातु की आज के वक़्त में कोई भी नकल बनाके बड़ी आसानी से लोगों की बेच सकता है पर अगर आप एक अच्छे व्यापारी हैं एवं लम्बे समाये तक आपका Business बैठना चाहते है हैं तो आपको इसकी Quality का भी पूरा ध्यान रखना होगा.

BSI की वेबसाइट के अनुसार, सोने की शुद्धता सुनिश्चित करने के लिए हमे किसी भी ज्वेलरी पर लगे Hallmark से उसकी शुद्धता का पता चल जाता है. इसके लिए हमे ज्वेलरी लेते वक़्त Hallmark के साथ साथ इन चार बातिओं का विशेष ध्यान रखना होगा जो की:

  • कोई भी ज्वेलरी जिसे BSI द्वारा Hallmarked बताया जा रहे है, अगर वो सच में BSI द्वारा Hallmarked है तो उसमी BSI का Logo आपको जरुर देखने को मिलेगा.
  • किसी भी ज्वेलरी या कीमती धातु की शुद्धता दो तरीके से देखी जाती जाती है: केरेट (KT) एवं Fineness नंबर. चुकी कोई भी कीमती धातु अगर शुद्ध हो तो उस से आभूषण नही सकते उस लिए उसकी Fineness से हम निश्चित करते हैं वो आभूषण कैसा है.
  • परख और हॉलमार्किंग केंद्र के पहचान चिह्न/संख्या;
  • जौहरी का पहचान चिह्न/नंबर

उम्मीद करते है आपको हमारी यह पोस्ट Gold Kya Hota Hai और Gold Ka Business Kaise Kare पसंद आई होगी.

अगर पोस्ट पसंद आयी है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर करे और इस पोस्ट से सम्बंधित कुछ भी सवाल हो तो इसे आप निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर पूछ सकते है.

यह पोस्ट पढ़े :-