Positional Trading क्या है – पोजीशनल ट्रेडिंग कैसे करे

आज हम इस पोस्ट में जानेंगे कि Positional Trading Kya Hai और Positional Trading Kaise Kare. लोग हर साल लाखों रुपए का मुनाफा कमाते हैं क्योंकि यह ट्रेडिंग एक ऐसी ट्रेडिंग है जो कि आपको अन्य ट्रेडिंग और से ज्यादा मुनाफा कमा कर दे सकती हैं चलिए जानते हैं पोजीशनल ट्रेडिंग के बारे.

Positional Trading Kya Hai
Positional Trading Kya Hai

Positional Trading Meaning in Hindi

Positional Trading का Hindi Meaning “स्थिति का व्यापार” करना होता है। इस ट्रेडिंग में हम लोग एक महीने से ज्यादा की ट्रेडिंग करते है.

Positional Trading Kya Hota Hai

जिस ट्रेडिंग में हम 1 महीने से ज्यादा की ट्रेडिंग करते है उसे ही Positional Trading कहा जाता है.

यह भी पढ़े: Share Market में Trading कैसे करे ? – घर बैठे शेयर मार्किट में ट्रेडिंग करना सीखे

Positional Trading Kya Hai

What is Positional Trading in Hindi: स्टॉक मार्केटिंग की एक इसी स्ट्रेटेजी है जिसमे हम किसी भी एक कंपनी के शेयर को कम से कम 1 महीने से लेकर 1 साल के अन्दर तक होल्ड कर के रखते है. इसके बाद जब उस शेयर में उछाल आये तब आप उसको बैच कर मुनाफा कमा सकते है.

Positional Trading में हम शेयर को 1 महीने से लेकर 1 साल के अन्दर तक होल्ड करके रख सकते है. इसके बाद जब शेयर मार्केट में उछाल आता है. अप इस शेयर को बैच कर मुनाफा कमाते है.

उदाहारण के तौर पर आप किसी भी कंपनी के शेयर को 1000 रूपए के 10 शेयर को खरीदते है. जिसके कुछ महीने बाद उस शेयर में 20% का उछाल आता है. आप इस शेयर को इस भाव में बैच देते है. जिससे आपके यह 1000 के शेयर की कीमत 1200 रूपए हो जाती है. इस तरह आप इसमें 200 रूपए का प्रॉफिट कमा लेते है.

यह भी पढ़े: NSE क्या है – शेयर मार्किट से एनएसई का क्या संबध है पूरी जानकारी हिंदी में

Positional Trading Kaise Kare

Positional Trading करने के लिए आपको सबसे पहले यह तय करना है की आप शेयर को कितने दिन रख सकते है. आप शेयर को कम से कम 1 महीने तक जरुर होल्ड करके रखे. जिससे आपको इसमें नुकशान होने की उम्मीद ना रहे.

इसके बाद आप किसी भी एक कंपनी के शेयर को खरीद सकते है. उदाहरण के तौर पर आप किसी भी कंपनी के 2000 की प्राइस के 10 शेयर को खरीदते है. इसके बाद आप 1900 की प्राइस के 10 शेयर और खरीद लीजिये.

इसके कुछ महीने बाद इसी एक शेयर की कीमत बढ़ कर 2500 हो जाती है. तो आपको एक शेयर पर 500 रूपए का प्रॉफिट हो जाता है. इसी तरह आपके पास 20 शेयर के 10,000 रूपए का प्रॉफिट हो जाता है.

यह भी पढ़े: Scalping Trading क्या है – शेयर पर स्कैल्पिंग ट्रेडिंग कैसे करे पूरी जानकारी हिंदी में

Positional Trading Me Stop Loss Kaise Lagaye

Positional Trading में स्टॉप लोस लगाने के लिए आपको सबसे पहले इसकी एक योजना बनानी होगी. इसमें आपको यह तय करना होगा की शेयर के कितना निचे गिरने पर अपने आप बिक जाये और कितना प्रॉफिट होने पर वो शेयर अपने आप बिक जाए.

अगर आप नहीं जानते Stop Loss क्या है तो इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए आप हमारी नीचे दी गई पोस्ट को पढ़े इसमें आपको सारी जानकारी मिल जायगी.

उदाहरण के तौर पर आप किसी कंपनी के कंपनी के 200 रूपए का 1 शेयर ख़रीदा. इसके बाद आप इस शेयर पर 180 का स्टॉप लोस लगा दीजिये. जिससे की यह शेयर के भाव 180 से निचे गिरे तो यह अपने आप बिक जाये. जिससे आपको नुकशान ज्यादा ना हो.

इसके अलावा आप इस स्टॉप लोस को प्रॉफिट में भी लगा सकते है. आप इस शेयर को 240 पर लगा सकते है. जिससे की यह शेयर के भाव जैसे ही 240 हो जाये तो यह शेयर अपने आप ही बिक जाए.

इस तरह अप Positional Trading में स्टॉप लोस लगा सकते है. जिससे आपको नुकशान होने से बच जाए ओए आपको मुनाफा भी अच्छा हो जाये.

यह भी पढ़े: शेयर मार्किट में इन्वेस्ट कैसे करे – शेयर मार्किट क्या है – Share Market in Hindi

Positional Trading Ke Fayde

Positional Trading से हमें बहुत ज्यादा मुनाफा होता है. इसके बहुत से और भी फायदे होते है जैसे की-

Positional Trading में हमें यह बहुत ही आसानी से पता चल जाता है की आपको किसी भी शेयर को कब खरीदना है और किस शेयर को कब बेचना है. इससे आपको इसमें नुकशान होने की गुंजाइश कम होती है.

यह भी पढ़े Swing Trading क्या है ?

Positional Trading को हम पार्ट टाइम करके भी बहुत मुनाफा कमाया जा सकता है. क्योंकि इसमें ट्रेड बहुत कम होते है जिससे हम इस शेयर की अच्छे से एनालिसिस कर सकते है. एनालिसिस करने की बाद हम इसमें और भी शेयर को जोड़ सकते है.

अगर आप Positional Trading के लिए शेयर को खरीदते है तो आपको इसमें वोलेटिलिटी बहुत कम होती है. इस कारन इस पर स्टॉप लोस का ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है.

यह भी पढ़े: Intraday Trading क्या है – Day Trading क्या है जाने शेयर ट्रेडिंग के बारे में हिंदी में .

Positional Trading Ke Nuksan

Positional Trading में हमें एक शेयर को बहुत लम्बे समय तक होल्ड करके रखना होता है. इस कारन इसकी वजह से पूरी Capital Block हो जाती है.

Capital Block होने के कारन इसमें आपको बहुत ज्यादा मुनाफा नहीं होता है. पर आपको इसमें नुकशान भी नहीं होता है.

यह भी पढ़े: BSE क्या है – शेयर मार्किट में बीएसई पर लोग ज्यादा भरोसा क्यों करते है पूरी जानकारी

Positional Trading Se Paise Kaise Kamaye

Positional Trading एक बाकि सभी से आसन ट्रेडिंग है क्योंकी इसमें आपको रोज रोज मार्किट वाच करने की जरुरत नहीं है.

आपको बस एक बार एक कंपनी के शेयर पर रिसर्च करना है और उस कंपनी के शेयर को खरीद कर रख लेना है एक बार आप उस कंपनी के शेयर को खरीद लेते है तो बस आपको कुछ महीने का इंतज़ार करना है ताकि जैसे की उस शेयर की कीमत बढ़ जाये आप उसे बेच कर अच्छा मुनाफा कमा सके .

Positional Trading में एक बाद जरुरर याद रखे की जब भी आप शेयर ख़रीदे तो ऐसी कंपनी के शेयर को ख़रीदे जिस कंपनी के शेयर में 6 महीने के अन्दर उछाल आये और उसके शेयर की कीमत बढ़ जाये ताकि आप जब उस शेयर को बैचे तब आपको ज्यादा से ज्यादा मुनाफा हो सके.

यह भी पढ़े: Trading कैसे करे ? – ट्रेडिंग करने का आसान तरीका क्या है – शेयर ट्रेडिंग के प्रकार ?

अगर आपको हमारी यह पोस्ट Positional Trading Kya Hai से जुड़े कुछ और प्रश्न पूछने है तो अप हमसे निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है.

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पोजीशनल ट्रेडिंग क्या है अच्छी लगी तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे. जिससे उनको भी पोजीशनल ट्रेडिंग के बारे में पता चल सके.