Swing Trading क्या है – शेयर मार्किट में स्विंग ट्रेडिंग क्या होती है पूरी जानकारी हिंदी में

शेयर मार्केट में कई प्रकार की ट्रेडिंग होती है जिसमे Swing Trading निवेशकों को ज्यादा पसंद आती है. एक निवेशक हमेशा शेयर मार्केट में धैर्य के साथ ट्रेडिंग करता है.

शेयर मार्केट में लोग ज्यादा तर Intraday Trading और Scalping Trading करते है. लेकिन सही राणनीति और धैर्य के साथ लोग Swing Trading में इंट्राडे और सकैलपिंग ट्रेडिंग से ज्यादा पैसे कमा लेते है.

तो चलिए सबसे पहले Swing Trading शब्द के बारे में जानते है, ताकि स्विंग ट्रेडिंग को समझने में आसानी हो.

Swing Trading Kya Hai
स्विंग ट्रेडिंग क्या है

Swing Trading Meaning In Hindi ?

Swing Trading का मतलब = “झुलाना व्यापार” होता है. इसे आसान भाषा मे समझने तो ऐसा व्यापार करना जिसे झूले की तरह आगे पीछे झुलाते रहें.

Swing Trading Kya Hai ?

स्विंग ट्रेडिंग एक ऐसी ट्रेडिंग होती है जिसमे शेयर को शेयर मार्केट के खुलने पर खरीद लिया जाता है और शेयर की कीमत टारगेट तक पहुँच जाने पर उसे बेच कर मुनाफा कमाया जाता है.

स्विंग ट्रेडिंग में दरअसल खरीदे गए शेयर की Delivery ले ली जाती है. इसी कारण इसे Delivery Trading भी कहते है.

चलिए अब स्विंग ट्रेडिंग को एक उदाहरण से समझते है.

Swing Trading In Hindi ?

स्विंग ट्रेडिंग करने से पहले हम एक Strategy बनाते है जिसके हिसाब से हम शेयर चुनते है और फिर उसपर ट्रेडिंग करते है.

सबसे पहले तो एक ऐसी कंपनी के शेयर को चुनेंगे जिसमे स्विंग होता हो. यानी कि उतार-चढाब ज्यादा होता हो.

अब उस शेयर का हम ग्राफ देखेगे की इसके शेयर की कीमत में 3 दिन , 7 दिन, 2 हफ्ते या  1 महीने के अंदर कितनी बढ़ी या घटी है .

मान लेते है कि एक कंपनी Reliance के शेयर में 7 दिन के अंदर 50 रुपये प्रति शेयर का उतार-चढाब होता है.

अब अपने देखा कि अभी शेयर की कीमत घाट रही है और अब यहां से बढ़ना शुरू होगी . तो अब आप उस कंपनी के शेयर मार्किट के खुलने से बंद होने के बीच खरीद लेंगे.

अब यहाँ एक बात ध्यान देने वाली है कि आपको स्विंग ट्रेडिंग में मार्जिन मनी का उपयोग नही करना है.

क्योंकि आप जो शेयर खरीद रहे है उनकी डिलेवरी लेंगे तो उसके लिए आपको शेयर के पूरे पैसे चुकाने होंगे.

मान लेते है अपने 123 रुपये प्रति शेयर की कीमत पर 10,000 रुपये के शेयर खरीदे और 10,000 रुपये पूरे खर्च करके शेयर को रख लिया.

अब आपको अपने शेयर पर stop loss और target लगाना है. Stop loss अपने खरीदे हुए शेयर की कीमत से जितना ज्यादा कम हो सके उतना कम लगाए.

ताकि अगर शेयर की कीमत ज्यादा कम होकर बढ़े तो आपको नुकसान न हो.

Stop Loss क्या है और कैसे लगाए यह जानने के लिए नीचे दी गई पोस्ट पढ़े.

और अब आप अपने analysis के अनुसार sell का टारगेट लगाए. मान लेते है कि आपके शेयर की कीमत 7 दिन के अंदर 40 रुपये बढ़ेगी. तो आपका sell target होगा. 163 रुपये प्रति शेयर.

अब जैसे ही आपके शेयर की कीमत टारगेट तक पहुचेगी आपके शेयर अपने आप बिक जाएंगे और मुनाफा आपके खाते में होगा.

Swing Trading से ज्यादा मुनाफा कमाने की Strategy और Swing Trading कैसे करे जानने के लिए नीचे दी गई पोस्ट पढ़े.

आपको हमारी स्विंग ट्रेडिंग क्या है पोस्ट अगर अच्छी लगी तो हमारी पोस्ट अपने दोस्तों और परिवार के लोगो के साथ शेयर करे ताकि हमे और भी पोस्ट लिखने के लिए प्रोत्साहन मिले.

अगर आपके मन मे Swing Trading Kya Hai से जुड़े सवाल है तो आप ” सवाल पूछे” बटन को दवा कर पूछ सकते है.

About : Currency Inbox

हम हिन्दी भाषा में पोस्ट लिखते है ताकि लोग अपनी मात्र भाषा में पढ़ सके और सीख कर सफलता हासिल कर सके क्योंकी "हिन्दी हैं हम, वतन है, हिन्दोस्ताँ हमारा | सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा".

हमारी वेबसाइट को SUBSCRIBE करे !

Reader Interactions

अभी तक पूछे गए सवाल: सवाल पूछें

  1. Kumae Vishwas

    जानकारी अच्छी है ऐसे ही भेजते रहे

    • Currency Inbox

      इसके लिए Email से हमारी वेबसाइट को SUBSCRIBE करे

सवाल & जवाब :

सवाल & जवाब के लिए अपनी सही जानकारी भरें।