District Magistrate कैसे बने, किसे कहते हैं, SDM कैसे बने, योग्यता, Salary

आज हम आपको इस Article की मदद से बताएँगे की DM कैसे बने और DM किसे कहते हैं की पूरी जानकारी.

साथ ही हम आपको DM से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे जैसे की: SDM कैसे बने, DM क्या काम करता है, 12th के बाद DM कैसे बने, DM के लिए योग्यता इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

तो चलिए शुरू करते हैं Article DM कैसे बने पढ़ने से…

District Magistrate कैसे बने, किसे कहते हैं, SDM कैसे बने, योग्यता, Salary
District Magistrate कैसे बने, किसे कहते हैं, SDM कैसे बने, योग्यता, Salary

प्रिश्न पर पर क्लिक करे और उत्तर पर जाए !

DM Kise Kahate Hain

DM जिले का Collector होता है. DM का पूरा नाम District Magistrate है. राज्य के प्रत्येक जिले में एक DM होता है जो भारतीय प्रशासनिक सेवा का अधिकारी होता है.

जिले से जुड़े सारे काम-काज का निर्णय DM के द्वारा लिए जाते हैं. कलेक्टर जिले का मुख्य कार्यकारी होता है. यह जिले के प्रशासनिक कार्यो को ठीक से चलाने के लिए जिम्मेदार होता है.

DM Kaise Bane

DM बनने के लिए प्रत्येक Candidate का ग्रेजुएशन पास होना जरुरी है. ग्रेजुएशन के बाद ही Candidate DM के लिए होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकता हैं. UPSC के द्वारा जारी एग्जाम तीन भागों में कराया जाता है. इस एग्जाम को पास करने के बाद आप DM बन सकते हैं. DM बनने के कुछ Steps इस प्रकार हैं:

  • हायरसेकण्ड्री की शिक्षा पूरी करें: DM बनने के लिए सबसे पहले आपको 12th पास करना होगा. आप 12th क्लास किसी भी विषय से पास कर सकते हैं. हायरसेकण्ड्री की पढ़ाई में अपनी पसंद का विषय चुन सकते हैं. आप चाहे तो 12th क्लास में History, Commerce, Biology, Math, Science इत्यादि विषय भी चुन सकते हैं.
  • ग्रेजुएशन की पढाई पूरी करें: 12th होने के बाद ग्रेजुएशन करना जरूरी होता है. IAS बनने के लिए किसी भी विषय से ग्रेजुएशन पूरा कर सकते हैं. इस परीक्षा के लिए अलग से किसी विषय का चुनाव नही करना पड़ता हैं.
  • UPSC की प्रारंभ परीक्षा पास करें: DM के परीक्षा का आयोजन UPSC के द्वारा किया जाता है. UPSC के द्वारा आयोजित परीक्षा के लिए आवेदन करना होता है. IAS एग्जाम को पास करने के बाद आप DM बन सकते हैं.
  • UPSC एग्जाम तीन भागो में विभाजित होते हैं:
    • प्रीलिम्स एग्जाम: UPSC एग्जाम का पहला पेपर प्रीलिम्स का होता है. इस एग्जाम में दो पेपर शामिल होते हैं. इस एग्जाम का प्रत्येक पेपर 200 नंबर का होता है. प्रीलिम्स एग्जाम में परीक्षा का Pattern Objective Type प्रश्नों जैसा होता है. प्रीलिम्स के दोनों पेपर को Qualify करना जरुरी होता है.
    • मुख्य एग्जाम: प्रीलिम्स एग्जाम Qualify करने के बाद मुख्य परीक्षा देनी होती है. मुख्य परीक्षा को Mains एग्जाम कहते है. इस एग्जाम में कुल 9 पेपर होते हैं जिनमे लिखित और मौखिक एग्जाम शामिल होते हैं. ध्यान रहें मुख्य परीक्षा का Syllabus समय-समय पर बदलता रहता हैं. पेपर से जुडी जानकारी का ध्यान रखना जरुरी है. Syllabus से जुडी जानकारी के लिए आप UPSC की Official Website की मदद ले सकते हैं.
    • इंटरव्यू पास करें: इंटरव्यू को UPSC एग्जाम का आखरी पड़ाव कहते हैं. प्रीलिम्स और मुख्य एग्जाम Qualify करने के बाद इंटरव्यू Round होता है. इस Round में Candidate से कई प्रश्न पूछे जाते हैं. UPSC में इंटरव्यू का समय करीब 45 मिनिट तक होता है. 45 मिनिट के इंटरव्यू में कुल 275 अंक शामिल होते हैं. इस इंटरव्यू में Candidate से Tough और Tricky सवाल पूछे जाते हैं. अगर आप इंटरव्यू Clear कर लेते है तो आप IAS अधिकारी बन जाते हैं.
  • IAS के पद में कार्यरत: IAS अधिकारी के रूप में आपको 6 साल काम करना होता है. इस 6 साल के पद के दौरान 2 साल का प्रशिक्षण दिया जाता है. इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद ही आप DM बन पाते है.

SDM Kaise Bane

SDM कैसे बनने के Steps इस प्रकार हैं:

  • 12th क्लास पास करें: SDM बनने के लिए आपका 12th क्लास पास होना जरुरी हैं. आप किसी भी विषय से 12th Complete कर सकते हैं. यदि 12th अपने बायोलॉजी विषय से Complete किया है तब भी आप SDM बन सकते हैं.
  • ग्रेजुएशन पूरा करें: 12th होने के बाद आप ग्रेजुएशन Complete कर सकते हैं. SDM बनने के लिए Candidate का ग्रेजुएट का होना आवश्यक है.
    • Graduation के बाद ही UPSC के द्वारा आयोजित परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.
    • UPSC एग्जाम के लिए किसी भी विषय से ग्रेजुएट हो सकते हैं.
  • UPSC एग्जाम Clear करें: यह एग्जाम 3 चरण में होता हैं.
  • UPSC की प्रारंभ परीक्षा पास करें: SDM की परीक्षा का आयोजन UPSC के द्वारा किया जाता है. UPSC के द्वारा आयोजित एग्जाम के लिए आवेदन करना होता है.
    • IAS के एग्जाम को पास करने के बाद SDM अधिकारी के रूप में नियुक्त हो जाते हैं.
  • UPSC का एग्जाम तीन भागों में होता है:
    • प्रीलिम्स एग्जाम: UPSC एग्जाम में पहला पेपर प्रीलिम्स का होता है.
      • इस एग्जाम में दो पेपर होते हैं.
      • यह एग्जाम कम से कम 400 नंबर का होता है.
      • प्रीलिम्स एग्जाम में परीक्षा का Pattern Objective Type प्रश्न जैसा होता है.
      • इस एग्जाम के दोनों पेपर को Qualify करना जरुरी है.
    • मुख्य एग्जाम: प्रीलिम्स एग्जाम के बाद मुख्य परीक्षा देनी होती है.
      • इस एग्जाम में कुल 9 पेपर शामिल होते हैं जिनमे लिखित और मौखिक दोनों प्रकार से ये परीक्षाएं होती हैं.
    • इंटरव्यू पास करें: यह इस एग्जाम का आखरी चरण होता है. प्रीलिम्स और मुख्य एग्जाम Qualify करने के बाद इंटरव्यू Round होता है.
      • इस Round में Candidate से कई सवाल पूछे जाते हैं.
      • यह इंटरव्यू करीब 45 मिनिट से कुछ घंटों तक का हो सकता है.
      • इसमें कुल 275 अंक होते हैं. इस इंटरव्यू में बहुत Tough और Tricky सवाल पूछे जाते हैं.
      • अगर आप इंटरव्यू Qualify कर लेते है तो आप IAS अधिकारी बन जाते हैं.
      • IAS बनने के बाद SDM के रूप में आपकी नियुक्ति कर दी जाती है.

DM Kya Kam Karta Hai

DM के काम इस प्रकार हैं:

  • जिले की सारी व्यवस्थों का निर्णय लेना.
  • जमीन से जुड़े मुद्दों का निर्णय लेना.
  • Land Valuation और Land Acquisition का काम करना.
  • Agricultural के क्षेत्र से जुड़े मामले.
  • Income Tax, Excise Duty और Irrigation Dues को देखना.
  • Land Revenue से जुड़ें काम करना.
  • Land Records को व्यवस्थित रखना.
  • प्राक्रतिक आपदा से जुड़े निर्णय लेना.
  • कानून व्यवस्थाओं की स्थापना करना.
  • पुलिस और जेलों का निरक्षण करना.
12 Ke Bad DM Kaise Bane

12th के बाद DM बनने के Steps इस प्रकार हैं:

  • 12th Complete करने के बाद Graduation पूरा करें.
  • ग्रेजुएशन पूरा होने के बाद आप UPSC एग्जाम के लिए आवेदन करें.
  • UPSC की प्रारंभ परीक्षा पास करें.
  • UPSC का एग्जाम तीन भागो में विभाजित होते हैं.
  • प्रीलिम्स एग्जाम, मुख्य एग्जाम और इंटरव्यू तीनो परीक्षा को Qualify करना जरुरी होता हैं.
  • यदि आप UPSC एग्जाम पास कर लेते हैं तो आप एक IAS अधिकारी बनने के काबिल हो जाते हैं.
  • IAS अधिकारी के रूप में आपको 6 साल काम करना होता है. इस 6 साल की सेवा के दौरान आपको 2 साल का प्रशिक्षण दिया जाता है.
  • प्रशिक्षण प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही आप DM बन सकते है.
DM Ke Liye Yogyata

DM के लिए योग्यता इस प्रकार हैं:

  • किसी भी विषय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए.
  • IAS बनने के लिए नागरिक भारत, भूटान, नेपाल इत्यदि का होना चाहिए.
  • हर वर्ग के लिए आयु की तय सीमा होती है:
    • सामान्य वर्ग के लिए: 21 से 30 वर्ष है.
    • OBC वर्ग के लिए: 21 से 33 वर्ष है.
    • SC और ST वर्ग के लिए: 21 से 35 वर्ष है.

DM Ki Age Limit

DM की Age Limit इस प्रकार है:

  • सामान्य वर्ग के लिए: 21 से 30 वर्ष.
  • OBC वर्ग के लिए: 21 से 33 वर्ष.
  • SC और ST वर्ग के लिए: 21 से 35 वर्ष.
DM Kaise Bane – FAQs
DM Ki Salary Kitni Hoti Hai

DM की सैलरी 56,100 से 1,18,500 तक होती है.

DM Ka Full Form Kya Hai

DM का Full Form District Magistrate है.

IAS DM Kab Banta Hai

IAS अधिकारी के रूप में 6 साल काम करने के बाद इसके बाद उसे अगले 2 साल की ट्रेंनिंग पूरी करनी पड़ती है, इसके बाद IAS अधिकारी DM बन सकता है.

DM Banne Ke Liye Kon Kon Si Pariksha Deni Padti Hai

DM बनने के लिए Candidate को UPSC द्वारा जारी परीक्षा देनी पड़ती हैं.

अगर आपको हमारी यह पोस्ट DM Kaise Bane पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर और अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment कर के पूछ सकते है.

यह पोस्ट पढ़े :-