IFS कैसे बने, IFS के कार्य, Qualification, Syllabus, Age Limit, Salary

| | 8 Minutes Read

आज हम आपको इस Article में बताएँगे की IFS कैसे बने और IFS बनने के लिए तैयारी कैसे करे की पूरी जानकारी.

साथ ही हम आपको IFS से जुड़े और भी सवालों के जवाब देंगे जैसे की: IFS का Exam, IFS के लिए Qualification, Salary इत्यादि की पूरी जानकारी विस्तार में जानेंगे.

तो चलिए शुरू करते हैं Article IFS क्या होता है पढ़ने से.

IFS Kya Hota Hai

भारतीय विदेश मंत्रालय के कार्यो को सँभालने के लिए एक विशेष सेवा का निर्माण किया गया है, जिसे भारतीय विदेश सेवा कहते हैं. विदेशी सेवा के लिए सरकार Foreign Service Officer की नियुक्ति करती है. यह पद केंद्र सरकार के अधीन होता हैं.

IFS का पूरा नाम Indian Foreign Service होता है, जिसे हिंदी में भारतीय विदेश सेवा के नाम से जाना जाता हैं. IFS किसी अन्य देश में भारत सरकार व देश का पूर्ण रूप से प्रतिनिधित्व और उस देश से जुड़े भारत के सभी कार्यों को करने के लिए जिम्मेदार होता है.

IFS Kaise Bane

IFS बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी विषय से 12वीं की पढ़ाई पूरी करनी होगी. 12वीं पूर्ण करने के बाद ग्रेजुएशन डिग्री Complete करना होगा.

ग्रेजुएशन डिग्री आप बीए, बीएससी, बीकॉम, बीटेक, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, भूविज्ञान, संखिय्की, पशु चिकित्सा विज्ञान इत्यदि कोर्स में किसी भी एक विषय में कर सकते है.

इसके बाद आपको UPSC एग्जाम के लिए आवेदन करना होगा. UPSC का एग्जाम तीन चरणों में आयोजित किया जाता है. जिसमे प्री, मैन्स और इंटरव्यू शामिल होता है.

सबसे पहले आपको प्री एग्जाम देना होता है जिसमें दो पेपर होते हैं. इस एग्जाम को Qualify करने के बाद आपको मैन्स एग्जाम देना होता है. मैन्स एग्जाम में कुल 9 पेपर होते हैं.

प्री और मैन्स एग्जाम Qualify करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इंटरव्यू के माध्यम से आपकी Logical Ability और Intelligence की क्षमता की जाँच की जाती है.

इंटरव्यू Qualify करने के बाद लिखित परीक्षा और इंटरव्यू के आधार Merit List बनती है, जिसके बाद IFS का चयन होता है. चयनित होने के बाद ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता हैं. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद आप IFS बन जाते है

IFS Kya Kam Karta Hai

IFS देश की सरकार और विदेशो की सरकार के बीच व्यापारिक और सांस्कृतिक संबधों को मजबूत करने का काम करता है. इसके साथ ही दूसरे देशो में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का कार्य करता है.

IFS Ki Taiyari Kaise Kare

1. IFS की तैयारी के लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन डिग्री पूर्ण करनी होगी.

2. ग्रेजुएशन डिग्री आप किसी भी विषय से पूर्ण कर सकते हैं.

3. IFS एग्जाम का आयोजन संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा किया जाता हैं.

4. IFS के लिए आपको IFS UPSC एग्जाम की तैयारी करना होगा.

5. एग्जाम शुरू होने से पहले कम से कम 6 महीने पहले पढ़ने की तैयारी शुरू कर देना चाहिए.

6. इसके लिए सबसे पहले आपको परीक्षा पाठ्यक्रम और परीक्षा Pattern को समझना होगा.

7. परीक्षा पाठ्यक्रम और परीक्षा Pattern को समझने से परीक्षा के लिए Cover किए जाने वाले विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त करे.

8. तैयारी के लिए एक Study Time Table बना ले और उसी के अनुसार अपनी तैयारी शुरू करें.

9. पिछले बर्षों में आयोजित परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों को इकठ्ठा करें और उनको हल करने का प्रयास करें.

10. जिस विषय में कमजोर है उस विषय की Practice के लिए ज्यादा समय दें.

11. नोट्स बनाएं और कोशिश करें की ज्यादा से ज्यादा Mock Test दें, इससे सभी विषयों की तैयारी करने में आसानी होगी.

12. Time Table के अनुसार एग्जाम की तैयारी के लिए रोज 6 से 8 घंटे का समय देना आवश्यक है.

13. इसके साथ ही बीच-बीच में 10 से 20 मिनिट का ब्रेक लें और अपना कुछ समय मनोंरजन या अन्य काम में दे सकते हैं.

IFS Ke Liye Qualification
  • मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या महाविद्यालय से ग्रेजुएशन पूर्ण होना चाहिए.
  • ग्रेजुएशन डिग्री: BA, BSc, BCom, BTech, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, भूविज्ञान, संखिय्की, पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन इंजीनियरिंग इत्यादि में किसी भी एक कोर्स पास से होना आवश्यक है.
IFS Ki Selection Process

1. प्रारंभिक परीक्षा: Civil Service एग्जाम के प्रथम चरण में प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की जाती है. प्रारंभिक परीक्षा में General Studies और Reasoning से संबधी कुल दो पेपर होते हैं. परीक्षा में पूछे गए सभी प्रश्न Objective Type होते है.

2. मुख्य परीक्षा: प्रारंभिक परीक्षा पास करने के बाद मुख्य परीक्षा देना होता है. मुख्य परीक्षा में कुल 9 पेपर होते हैं, जिसमें भाषा, सामान्य ज्ञान, जनरल स्टडीज, भाषा निबन्ध इत्यदि से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं.

सभी पेपर में व्याख्यात्मक प्रश्न होते हैं. मुख्य परीक्षा के अंकों के आधार पर Merit List बनती है.

3. इंटरव्यू: प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इंटरव्यू के माध्यम से उम्मीदवारों की Logical Ability और Intelligence की क्षमता की जाँच की जाती है.

इसके बाद प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा, इंटरव्यू के आधार पर Merit List बनती है.

इसके बाद IFS का चयन होता है. चयनित उम्मीदवार को ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है. ट्रेनिंग पूरी होने के बाद उम्मीदवार IFS बन जाते हैं.

IFS UPSC Ka Syllabus

1. UPSC Prelims पेपर 1: Current Events of National and International Importance, History of India and Indian National Movement, Indian and World Geography, Indian Polity and Governance, Economic and Social Development, General Issues on Environmental Ecology, Bio-Diversity and Climate Change.

2. UPSC Prelims पेपर 2: Comprehension, Interpersonal Skills Including Communication Skills, Logical Reasoning and Analytical Ability, Decision-Making and Problem Solving, General Mental Ability Basic Numeracy.

3. UPSC Mains एग्जाम:

  • पेपर 1: Modern Indian Language
  • पेपर2: English
  • पेपर3: Essay
  • पेपर4: General Studies
  • पेपर5: General Studies 2
  • पेपर6: General Studies 3
  • पेपर7: General Studies 4 Ethics, Integrity और Aptitude
  • पेपर8: Optional Subject 1
  • पेपर9: Optional Subject2
IFS Ki Eligibility
  • उमीदवार भारत देश का नागरिक होना चाहिए.
  • उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 21 वर्ष से 32 वर्ष होना चाहिए.
  • मान्यता प्राप्त महाविद्यालय या विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन डिग्री अनिवार्य है.
IFS Ke Liye Subject

IFS बनने के लिए ग्रेजुएशन में गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, भूविज्ञान, संखिय्की, पशु चिकित्सा विज्ञान और पशुपालन इंजीनियरिंग इत्यादि विषय शामिल हैं.

IFS Ke Liye Height

IFS के लिए पुरुष उम्मीदवारों की Height 160cm तक होती है. इसके साथ ही महिला उम्मीदवारों की Height 145cm तक होती है.

IFS Retirement Age

IFS की Retiremnet उम्र न्यूनतम 60 वर्ष होती है, लेकिन Foreign Ministry की Guidelines के अनुसार यह अधिकतम तय की गई उम्र से 5 साल बढ़ाया जा सकता है.

IFS Ki Salary Kitni Hoti Hai

IFS की सैलरी 50,000 से 60, 110 रूपये तक होती है. इसके साथ ही IFS को हर महीने Grade Pay के तौर पर 5,400 रूपये दिए जाते है.

IFS Salary per Month

IFS की सैलरी 50,000 रूपये से 60,000 रूपये प्रतिमाह तक होती है.

IFS Ka Pura Naam

IFS का पूरा नाम Indian Foreign Service हैं, जिसे हिंदी में भारतीय विदेश सेवा कहते हैं. IFS अधिकारी दूसरे देशों में अपने देश का प्रतिनिधित्व करते हैं.

अगर आपको हमारी यह पोस्ट IFS कैसे बने पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें.

अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप Comment कर के पूछ सकते है.

Author:

मेरा नाम रजत है, में इस वेबसाइट पर Jobs और Sarkari Yojana के बारे में जानकारी share करता हु. मैंने पढाई में BA, PGDCA किया है. आप मुझ से Govt, Private, Railway, Banking आदि jobs से जुड़े प्रिश्न भी पूछ सकते है.

Questions Answered: (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *