ब्याज क्या है-साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि‍ ब्याज फॉर्मूला हिन्दी में

Interest Kya Hai-Simple Interest and Compound Interest in Hindi
Interest Kya Hai-Simple Interest and Compound Interest in Hindi

आज हम इस पोस्‍ट में जानेंगे कि Interest Kya Hai और Simple Interest interest-साधारण ब्याज क्या है। Compound Interest Kya Hai-चक्रवृद्धि‍ ब्याज क्या है। इस पोस्ट में हम बैंकों द्वारा मिलने वाले ब्याज और Fixed Deposit पर मिलने वाले ब्याज के बारे में जानेंगे और उदाहरणों की मदद से Interest को समझेंगे।

Interest Kya Hai- Simple and Compound Interest in Hindi

Simple interest and compound interest को समझने के लिए सबसे पहले हमें Interest (ब्याज) को समझना होगा तभी हम अच्छी तरह से समझ पाएंगे की Simple Interest और Compound Interest क्या है और यह कैसे काम करते है।

तो चालिए सबसे पहले जानते है कि Interest Kya hai- ब्याज क्या होता है

What is Interest in Hindi-ब्याज क्या है?

Interest in Hindi: Interest को हम हिन्दी में ब्याज कहते है। जब भी हम किसी व्यक्ति को पैसे उधार देते है तब हम उस व्यक्ति से उन पैसों का उपयोग करने के बदले में कुछ प्रतिशत ब्याज लेता है जिसे हम Interest कहते है। यहाँ हम Interest की दर खुद तय करता है एक निश्चित समय अवधि के साथ ताकि हम जान सके की हमें कितना Interest मिलेगा।  Interest calculate करने के लिए हमें कुछ बाते हमेशा ध्यान में रखनी है ताकि हम सही तरह से Interest Calculate कर पाए। Interest Calculate करने के लिए हमें मूलधन (Principal) , ब्याज कि दर (Rate) और समय अवधि (Time) निश्चित होना जरूरी है तभी हम Interest को सही तरह से Calculate कर पाएंगे।

हमने जाना Interest Kya Hai  चालिए अब जानते है Simple Interest Kya Hai और इसे कैसे Calculate करते है

What is Simple Interest in Hindi- Simple Interest क्या है?

Simple Interest in Hindi: Simple Interest को हम हिन्दी भाषा में साधारण ब्याज कहते है। जिसे हम एक निश्चित समय की अवधि पर लगने वाले ब्याज को जानने के लिए उपयोग करते है। जब भी हम किसी व्यक्ति को पैसे उधार देते है तब हम उन पैसों पर एक निश्चित समय के लिए ब्याज लेते है जिसे हम साधारण ब्याज कहते है तो चालिए उदाहरण की मदद से समझते है Simple Interest को कैसे Calculate करते है।

उदाहरण के तौर पर मान ले कि आप अपने 1500 रुपये Fixed Deposit में 9% की दर पर 1 वर्ष के लिये निवेश कर रहे है तो अब आपको अपने निवेश पर 1 वर्ष बाद कितना Return मिलेगा। आपको 1 वर्ष के बाद 1500 रुपये पर 9% की दर से 135 रुपये Return ब्याज मिलेगा तो आपकी कुल राशि हुई 1635 रुपये।

हमने कैसे जाना कि 1500 रुपये पर 9% की दर पर 1 वर्ष में कितना ब्याज मिलेगा ?

यह जानने के लिए हमने साधारण ब्याज Simple Interest Formula का उपयोग करेंगे, कैसे चालिए जानते है ?

-: Simple Interest Formula :-

Simple Interest Formula in Hindi
Simple Interest Formula in Hindi

तो हमने जाना की किस तरह से हम Simple Interest को Calculate करते है। चालिए अब जानते है कि Compound Interest Kya Hai-Compound Interest क्‍या है

What is Compound Interest in Hindi- Compound Interest क्या है?

Compounding in Hindi: Compound Interest को हम हिन्दी में चक्रवृद्धि ब्याज कहते है। चक्रवृद्धि ब्याज का उपयोग हम ब्याज पर ब्याज की गणना करने के लिए करते है इसे भी हम एक उदाहरण की सहायता से समझेंगे कि कैसे Compound Interest कम करता है।

उदाहरण के तौर पर हम बैंकों के द्वारा Saving Account पर मिलने बाले ब्याज की गणना करेंगे। मान लेते है कि आपने बैंक में अपने बचत खाते में 1500 रुपये जमा किए और उन पैसों को 6 वर्ष तक नहीं निकाला तो आपको बैंक आपकी जमा राशि पर कितना ब्याज देगा। मान लेते है कि आपका बैंक आपको आपके बचत खाते पर 4.3 %  के हिसाब से Quarterly यानी त्रैमासिक ब्याज सालाना देता है तो आपको 6 वर्ष बाद आपका बैंक बचत खाते में 1938.84 रुपये देगा।

हमने Compound Interest कैसे Calculate किया?

Compounding Interest को Calculate करने के लिए हमने Compound Interest Formula का उपयोग किया है तो चालिए जानते है Compound Interest कैसे Calculate किया जाता है।

चक्रवृद्धि ब्याज की गणना के लिये निम्नलिखित सूत्र प्रयुक्त होता है:

  • P = मूलधन (प्रारम्भ में लिया/दिया/जमा किया गया धन)
  • r = ब्याज की वार्षिक दर (दस प्रतिशत ब्याज दर के लिये r=०.१०)
  • n = एक वर्ष में कुल ब्याज-चक्रों की संख्या
  • t = कुल समय (वर्ष में)
  • A = t समय बाद मिश्रधन

-: Compound Interest Formula :-

Compound interest in Hindi
Compound interest in Hindi

अतः 6 वर्ष बाद मिश्रधन लगभग रू 1,938.84 होगा।

अब आप जान गए है कि किस तरह आपको Saving Account और Fixed Deposit में ब्याज दिया जाता है और किस तरह से हम इन व्याजों की गणना कर सकते है।

अगर आपके पास कोई सुझाव है या सवाल है जो आप हमसे पुछना चाहते है तो आप Comment करके पुछ सकते है।

उम्मीद है आपको हमारी यह पोस्ट Simple Interest and Compound Interest in Hindi पसंद आई होगी। इसी तरह की पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे Newsletter को Subscribe करें और Facebook Page को Like करें ताकी आप तक हमारी Latest Post की जानकारी सबसे पहले पहुँच सके।

 

About Currency Inbox

यह वेबसाइट उन लोगो के लिए बनाई गई है जो लोग हिंदी भाषा में पढना चाहते है और आंगे बढ़ना चाहते है. आज कल हर समस्या का समाधान इन्टरनेट पर मिल जाता है पर कई बार हिंदी भाषा में जानकारियो की कमी के कारण लोगो तक सही जानकारी नहीं पहुच पाती और इस कारण से हमने यह वेबसाइट बनाई है ताकि हम उसकी कमी पूरी कर सके .

Like Facebook Page & Get Latest Post Notification On Facebook!

1K + Peoples Like Us !

Reader Interactions

Add Your Comment:

Your email address will not be used or publish anywhere.